Friday, 27 January 2017

पांचवा धाम सेम नागराजा (सेममुखेम) उत्तराखंड The Lord Krishna

पांचवा धाम सेम नागराजा (सेममुखेम) उत्तराखंड  The Lord Krishna


उत्तराखंड की हरी भरी वादियाँ,कल कल बहती हुई गंगा यमुना और सीना ताने हुए विशालकाय पहाड़, एकाएक सैलानियों को अपनी ओर खींच  लेते हैं, और इसी प्राकृतिक सौन्दर्य के बीच स्थित है हमारे चार धाम यमुनोत्री,गंगोत्री,बद्रीनाथ,और केदारनाथ।आज के अपने ब्लॉग में  हम आपको बताएँगे उत्तराखंड के पांचवे धाम सेम नागराजा के बारे  में. . . . 

सेम नागराजा का मंदिर उत्तराखण्ड के उत्तरकाशी जिले में समुद्रतल से  लगभग ७००० फिट ऊंचाई पर स्थित है, खूबसूरत बुग्यालों और विशालकाय पहाड़ो के बीच स्थित इस पवित्र स्थल की खूबसूरती बस देखते  ही बनती है. 
 उत्तराखंड के पांचवे धाम  सेम नागराजा में भगवान श्री कृष्णा सेम नागराजा के  रूप में विराजमान हैं,
कुछ दंतकथाओं के अनुसार महाभारत युद्ध के बाद भगवान श्री कृष्णा को स्वप्न में इस खूबसूरत और मनमोहक स्थान का स्वप्न हुआ और भगवान श्री  कृष्णा ने सेममुखेम जाने का निर्णय लिया, जब भगवान कृष्णा सेम मुखेम पहुंचे तो वहां के गढ़पति जो की बहुत बलशाली और  विशाल था गंगू रमोला से अपना स्वरूप बदलकर(एक साधु का भेष बनाकर ) कुछ स्थान माँगा लेकिन गंगू रमोला ने उन्हें ये कहकर मना कर दिया की मैं  किसी भी राहगीर को अपने गढ़ में जगह नही दूंगा और अपने बल का डर दिखाकर  उन्हें वहां से जाने को कह दिया। तब भगवान कृष्णा ने उस पूरे  स्थान पर सांप ही सांप छोड़ दिए और गंगू रमोला की भैंसे भी पत्थर की बन गयीं,तब भी जब गंगू रमोला को  अहसास नही हुआ के वो साधु कोई और नही  बल्कि सेम नागराजा भगवान श्री कृष्णा ही हैं. तब भगवान ने अपनी कई  लीलाओं के द्वारा गंगू रमोला को सत्य का ज्ञान करवाया।गंगू रमोला की कोई संतान भी नही थी तब भगवान सेम नागराजा की कृपा से ही उसे जुड़वाँ संतान की प्राप्ति हुई. और जब गंगू रमोला को ये अहसास हुआ तो उसने भगवान सेम नागराजा के मंदिर   का निर्माण करवाया जो आज उत्तराखंड के पांचवे  धाम के रूप में मौजूद है..

आज भी सेम नागराजा में भगवान द्वारा की गयी लीलाओ का प्रमाण स्पष्ट दिखता है.
                                                         


जय सेम नागराजा 

2 comments:

  1. bhut sunder post bhatt ji
    jai sem nagraja

    ReplyDelete
  2. bht bht dhnyawad rawat ji.... jai sem nagrajaa

    ReplyDelete

THANK YOU FOR YOUR COMMENT

Like us on facebook

Popular Posts

Blog Archive

loading...