Friday, 24 February 2017

Best 10 Quotes By Yog Guru Swami Ramdev In Hindi (10 प्रेरणादायक वचन योग गुरु स्वामी रामदेव )

योग गुरु स्वामी रामदेव को कौन नहीं जानता, स्वामी रामदेव किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। 
स्वामी रामदेव ने योग को एक नया आयाम दिया है या यूँ कहें कि योग को जन जन तक पूरी दुनिया में पहुँचाने में स्वामी रामदेव का बहुत बड़ा योगदान है। तो आइये जानते हैं योग गुरु स्वामी रामदेव के कुछ अनमोल प्रेरणादायक वचन.... 

ये भी पढ़ें :-
Easy 5 Steps To Achieve Your Dream (अपने सपने पूरे करने के आसान 5 तरीके)



1. अगर जीवन में समृद्धि और सफलता चाहिये तो सबसे पहले आलस्य का त्याग करो। 

2. माता-पिता का अपनी संतान के लिये,गुरुजनों का अपने शिष्यों के लिये,देशभक्तों का अपने देश (राष्ट्र ) के लिये प्रेम ही सच्चा प्रेम है। 

3. किसी रोगी को आरोग्य देना एक सच्ची सेवा है। 

4. हमारे सुख-दुःख का कारण कोई अन्य व्यक्ति या परिस्थियां नहीं बल्कि हमारे अच्छे एवं बुरे विचार ही होते हैं। 

5. मैं जबतक जीयूंगा देश के लिये समर्पित रहूँगा और देश के हित में कुछ भी करना पड़े तो जरूर करूँगा। 
6. आहार से मानव का स्वभाव और प्रकृति प्रभावित होती है,शाकाहार से स्वभाव शांत और गंभीरता आती है जबकि मांसाहार से मानव हिंसक और उग्र बनता है। 
7. अपने अतीत को कभी मत भूलो,अतीत का स्मरण हमे गलतियाँ दोहराने से बचाता है। 
8. जीवन को छोटे लक्ष्यों को समर्पित करना, जीवन का अपमान है। 
9. माता-पिता से बड़कर ना ही कोई पूजा है और ना ही कोई धाम है। इस धरती पर माता-पिता ही भगवान हैं। 
10. बिना कर्म के जीवन का कोई अस्तित्व नहीं है अतः हमेशा अपना कर्म करते रहें। 



Namstebharat.com पर visit करने के लिये बहुत बहुत धन्यवाद आपका प्रेम यूँ ही बना रहे इसी विश्वास के साथ...... 

नीचे comments करके अपने विचार जरूर रखें धन्यवाद। 




                                                    

6 comments:

  1. nice quotes really very motivated................

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपके इस प्रेम और प्रोत्साहन के लिए बहुत बहुत धन्यवाद सुबोध जी.

      Delete
  2. Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद शिव बचन सिंह जी आपका साथ और प्यार यूं ही हमे मिलता रहे

      Delete
  3. Replies
    1. धन्यवाद हिमांशु जी

      Delete

THANK YOU FOR YOUR COMMENT

Like us on facebook

Popular Posts

Blog Archive

loading...